बीमारियों के बचाव के लिए...
????????? ?? ????

बीमारियों के बचाव के लिए...

आजकल हर कोई किसी न किसी रोग से पीड़ित है किसी का शरीर काम नहीं कर रहा तो कोई नित्य नए आने वाले बुखारों या रोगों से पीड़ित है। इन रोगों या बुखार से निजात पाने के लिए आखिर क्या उपाय करें जिससे कि हम तंदरूस्त हो सकें तो आईए इसके बारे में विनय बजरंगी आपको बताता हूं कुछ उपाय।

अगर आप बुखार से निजात पाना चाहते हैं तो शनिवार या रविवार को चावल के सात दाने लेकर घर में किसी से बोले बिना किसी आक के पौधे के पास पूर्व की ओर मुंह करके खड़े हो जाएं और चावल का एक दाना आक की जड़ में रख दें। इस तरह सारे दिनों के नाम लेकर कहना चाहिए कि हे ज्वर देव आपको निमंत्रण है लेकिन बिना कारण नहीं आना।

आधे सिर के दर्द के लिए सूर्य निकलने से पहले घर से गुड़ की ढली लेकर निकले और फिर किसी चौराहे पर आकर पश्चिम की ओर मुख करके गुड़ की ढली को मुंह से कई टुकड़े करके फेंक आएं। इससे आपको आधे सिर दर्द से राहत मिलेगी।

अगर रविवार या शनिवार को नज़र लगे तो व्यक्ति के सिर से दूध को तीन बार फेर कर कुत्ते को डालें।

ज्वार की रोटी को एक तरफ सेक कर उस पर घी लगाएं फिर उसे पीले धागे से बांधे फिर नज़र लगे व्यक्ति के ऊपर से सात बार उतारकर कुत्ते को दे तो नज़र दोष से मुक्ति मिलेगी।

अठारा रोग के लिए किसी लड़की के हाथ का कता हुआ सूत लेकर उस का एक हाथ का लंबा धागा बना लें। रविवार को अठारा रोग से ग्रस्त व्यक्ति की दाहिनी  पिडली पर बाध दें इससे व्यक्ति स्वस्थ हो जाएगा।

बच्चे के दांत निकलने में दिक्कत हो रही तो उसके गले में रोहू मछली के पांच दांत धागे में बांधकर उसके गले में डाल दें।इससे बच्चे को दांत निकलने के दर्द से राहत मिलेगी।

जय बजरंग बली

 

Comment & Reviews

WRITE A REVIEW (SYSTEMATIC POMOLOGY (VOL...) PLEASE LOGIN!   Login