महिलाएं भी कर सकती हनुमान जी की भक्ति

महिलाएं भी कर सकती हनुमान जी की भक्ति

हनुमान जी हमेशा से कृपालु और दयालु रहें। उनका भक्त कोई भी हो सकता है। उनकी भक्ति किसी भी श्रद्धालु के लिए वर्जित नहीं है।अक्सर यह कहा जाता है कि हनुमान जी की भक्ति महिलाएं नहीं कर सकती। औरतों के लिए हनुमान जी की पूजा करनी वर्जित है। लेकिन ऐसा हरगिज नहीं हैं आईए मैं विनय बजरंगी आपको बताता हूं कि महिलाएं भी कर सकती हैं हनुमान जी की भक्ति। ऐसा माना जाता है हनुमान जी ने जानकी को अपनी माता माना था। लेकिन अगर गौर किया जाए धार्मिक ग्रंथों और शास्त्रों पर तो ऐसा कोई जिक्र नहीं मिलता यहां हनुमान जी की भक्ति महिलाओं के लिए वर्जित की गई हो। अगर महिलाओं के लिए ऐसा है तो पुरुषों को भी देवी लक्ष्मी मां की पूजा नहीं करनी चाहिए। लंबे व्रत या अनुष्ठान रखने से महिलाओं को अक्सर कई बाधाएं आती हैं। उनके राजस्लवा होने से अनुष्ठान खंडित  हो जाता है या उन्हें कई तरह के परिवारिक और सामाजिक फर्ज निभाने पड़ते हैं। इसलिए महिलाओं को चाहिए कि वे हनुमान चालीसा के प्रतिदिन पांच, दस पाठ कर बीस या दस दिन में सौ पाठ का अनुष्ठान तो कर सकती है। कष्टों से निपटारा पाने के लिए हनुमान चालीसा की चौपाई को सौ माला का जप करके लाभ हासिल किया जा सकता। इसके लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए-

‘’ संकट कटे सब पीरा। जो सुमिरे हनुमत बलबीरा।।

मन क्रम ध्यान जो लावे।।‘’

अगर कोई आने वाले बुरे सपनों से परेशान है या कोई ऊपरी हवा या किसी को भूत-पिशाच का डर सताता है तो उसे हमेशा इस मंत्र का जाप करना चाहिए-

‘’भूत पिशाच निकट नहीं आवे। महावीर जब नाम सुनावे।।

हनुमानजी सर्व मित्र सर्व स्थान सर्व कष्ट निवारक हैं सिर्फ श्रद्धा होनी चाहिए

इस मंत्र का जाप करने से न तो आपको किसी तरह का डर ही सताएगा और न ही बुरे स्वप्न आपको सताएंगे।

आज हर कोई किसी न किसी रोग या बीमारी से ग्रस्त है। इसलिए रोगों या बिमारियों से छुटकारा पाने के लिए आप हनुमान जी के इस मंत्र का जाप करें। इससे आपके सारे दुख दूर हो जाएंगे-

‘’नासे रोग हरे सब पीरा। जपत निरंतर हनुमत बीरा।।‘’

हनुमान जी को तो बस याद करने की देर भर है कि वो आपके सभी बिगड़े काम बना देते हैं और सभी की खाली झोलियां भरते हैं। वो तो सभी के संकटों को हर लेते है आप उन्हें सच्चे दिल से याद करके तो देखिए।

Also explained in ENGLISH as below.

Females could also be a devotee to Lord Hanuman…

Lord Hanuman has been very kind and merciful always. Anyone could be his devotee and follow rituals to please him. Reverence to him is not forbidden to any devotee. It is often said that females can’t be a disciple to lord Hanuman and they are prohibited from worshiping him. This is not a right practise as per Hindu Vedic rituals. I, Vinay Bajrangi, will tell you today how females could also worship Lord Hanuman.

It is believed that Lord Hanuman considered Janki as his mother and none of the Hindu religious texts and scriptures indicate prohibition of worship of Lord Hanuman by female devotees. If this is true then males shall also not worship Goddess Lakshmi or any of the female deity. Females face many obstructions in long religious procedures and rituals due to their physical constraints. Many a times religious rites are stuck due to the arrival of their menstruation cycle and many times due to the additional responsibilities of family or social obligations.

Thus, females can recite Hanuman Chalisa five times or ten times a day and can complete the cycle of one hundred times recitation in ten or twenty days. One complete cycle of hundred recitations of any of Hanuman Chalisa “Chaupai” can bring his blessings and relieve from suffering. For relief from miseries one must chant:

“Sankat Kate Mite Sab Peera I Jo Sumire Hanumant Balbira I

Man Kram Dhyan Jo Lave II”

If someone is scared of spirits & ghosts and is troubled by nightmares, he/she must recite “choupai” as

 “Bhoot Pishach Nikat Nahi Aave I Mahaveer Jab Naam Sumave II

“Hanumanji is everyone’s friend, all trouble’s-shooter and omnipresent; you must have faith in him to realize his presence.”

Chanting of this mantra will alleviate you from your fears and you will stop having bad dreams. 

People are suffering from various ailments these days. If you want to get rid of your illness, chant Hanumanji’s mantra s given below. This will take away all your sorrows.

Nase Rog Hare Sab Peera I Japat Nirantar Hanumat Beera II”

You only need to evoke his image in your mind and he immediately turns bad luck to fortune and fills your life with immense joys and blessings. He absorbs all evil existences around you. You just need to put your complete faith in him. 

Comment & Reviews

WRITE A REVIEW (SYSTEMATIC POMOLOGY (VOL...) PLEASE LOGIN!   Login