PAUSH PURNIMA

Bajrangi Dhaam Paush Purnima

पौष पूर्णिमा मनाने की विधि

इस वर्ष मंगलवार 2 जनवरी 2018 को पौष पूर्णिमा मनाई जाएगी।

धार्मिक मान्यता है कि पौष पूर्णिमा के दिन स्नान और मधुसूदन भगवान की पूजा करने से दिव्यलोक की प्राप्ति होती है. इसी दिन माघ स्नान का आरम्भ होता है। । शास्त्रो में वर्णित है कि इस दिन पवित्र नदियों में स्नान, पूजा, दान से अक्षय फल की प्राप्ति होती है। पौष पूर्णिमा के दिन जगन्नाथ पुरी में भगवान श्री हरि का पुष्याभिषेक किया जाता है।

पौष पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण व्रत और पूजा का भी महत्व बताया गया है। इसे करने से भक्तो को अमोघ फल प्राप्त होता है। पौष पूर्णिमा के दिन प्रातः काल स्नानादि से निवृत होकर मधुसूदन भगवान को स्नान कराकर सुन्दर वस्त्रो से सजाकर उन्हें नैवेद्य अर्पित करते हुए पूजा अर्चना करनी चाहिए।

हिन्दू धर्म के शास्त्रानुसार पौष पूर्णिमा के दिन सूर्य देव को अघ्र्य देकर व नमक रहित व्रत करने से सुख, शांति और सम्पत्ति की प्राप्ति होती है। वर्ष के प्रत्येक पूर्णिमा के दिन हिन्दू धर्म में विशेष पूजा और दान का महत्व है।