HOW TO PERFORM SHUKRA VIDHI

Bajrangi Dhaam

 Special Procedure for Shukra Worship
This procedure will be carried out for seven weeks, should be done with full faith as per the following instructions:

First Friday
Day to start the procedure - Friday of Suklapaksh
First Friday installation of Yantra - Mahalaxmi Yantra
First Friday installation of Ratna -  TwoVajram
First week prasad - Mishri
First week recitation - Goddess Laxmi Aarti Morning and evening

Second Friday
Day to start the procedure - second Friday
Second Friday installation of yantra - Vaibhav Laxmi  yantra
Second Friday installation of Ratna -  Two Vajram
Second week prasad - Mishri
Second week Mantra - Om Laxmipatye namah
Jap mala.  - Shukra mala
Jap numbers-  TwoMala , 216 times


Third Friday
Day to start the procedure -Third Friday
Third Friday installation of Yantra - Kuber Yantra
Third Friday installation of Ratna - Two Vajram
Third week prasad - white barfi
Third week Mantra - Om dram drim drom sah shukray namah
Jap mala - Shukra Mala
Map numbers - Two Mala,216 times


Fourth Friday
Day to start the procedure - Fourth Friday
Fourth Friday installation of Yantra -NavnathYantram
Fourth Friday installation of Ratna -  Two Vajram
Fourth week prasad - Mishri
Fourth week paath - Om dram drim drom Sah shukray namah


Fifth Friday
Day to start the procedure - Fifth Friday
Fifth Friday installation of Yantra -ChoutrisiyaYantram
Fifth Friday installation of Ratna -  Two Vajram
Fifth week prasad -Besanladdu
Fifth week mantra - Om dram drim drom sah shukray namah
Jap mala - Shukra Mala
Jap numbers -  Two Mala ,216 times


Sixth Friday
Day to start the procedure - Sixth Friday
Sixth Friday installation of Yantra -Sampurn rishi mandal Yantra
Sixth Friday installation of Ratna - Twovajram
Sixth week prasad -Bundiladdu
Sixth week mantra -Om dram drim drom sah shukray Namah
Jap mala -shukra mala
Jap numbers - Two mala,216 times


Seventh Friday
Day to start the procedure - seventh Friday
Seventh day installation of Yantra - ShriMaruti Yantra
Seventh day installation of Ratna - Twovajram
Seventh week prasad- white barfi
Seventh week  mantra - Gayatri Mantra
Jap mala -Rudraksh mala
Jap numbers -three mala ,324 times

After seven weeks  all the Yantras be kept in your temple  and all the vajram  be floated in the water.


The things required in this vidhi.

1. Yantra -7  (1 Every week)

2. Vajram- 14    (2 Every week)

3. Sweets    

4. Fruits    

5. Flowers

6. Raw rice 

7. Dhoop-agarbatti

 

EXPLAINED IN HINDI

 

शुक्र पूजन विशेष विधि :
यह विधि सात सप्तहा चलेगी , इसे निम्न विधि से पूर्ण विश्वास के साथ करें/  
पहला शुक्रवार  :
विधि आरंभ करने का दिवस : शुक्ल पक्ष का शुक्रवार
पहले शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- महालक्ष्मी यन्त्र
पहले शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
पहले सप्तहा प्रसाद : मिश्री 
पहले सप्तहा पाठ : लक्ष्मी आरती, सुबह और शाम /

दूसरा शुक्रवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : दूसरा  शुक्रवार
दूसरे शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- वैभव लक्ष्मी यन्त्र
दूसरे शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
दूसरे सप्तहा प्रसाद : मिश्री
दूसरे सप्तहा का मंत्र  : ॐ ॐ लक्ष्मीपतेः नमः
जपने की माला : शुक्र  माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

तीसरा  शुक्रवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : तीसरा  शुक्रवार
तीसरे शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- कुबेर यन्त्र
तीसरे शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
तीसरेसप्तहा प्रसाद : सफ़ेद बर्फी
तीसरे सप्तहा का मंत्र  : ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः
जपने की माला : शुक्र  माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

चौथा शुक्रवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : चौथा  शुक्रवार
चौथे  शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- नवनाथ यन्त्रम 
चौथे  शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
चौथे  सप्तहा प्रसाद : मिश्री 
चौथे  सप्तहा पाठ : ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः

पांचवां  शुक्रवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : पांचवां  शुक्रवार
पांचवां  शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- चौत्रीसिया यन्त्रम 
पांचवां  शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
पांचवां सप्तहा प्रसाद : बेसन के लड्डू 
पांचवां  सप्तहा का मंत्र  : ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः
जपने की माला : शुक्र  माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

छठा  शुक्रवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : छठा शुक्रवार
छठा शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- संपूर्ण ऋषि मंडल यन्त्र 
छठा शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
छठा सप्तहा प्रसाद : बूंदी  के लड्डू 
छठा सप्तहा का मंत्र  : ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः
जपने की माला : शुक्र  माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

सातवां  शुक्रवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : सातवां शुक्रवार
सातवां शुक्रवार को यन्त्र की स्थापना :- श्री मारुती यन्त्र 
सातवां शुक्रवार को रत्न स्थापना  :- दो वज्रम्
सातवांसप्तहा प्रसाद : सफ़ेद बर्फी 
सातवां  सप्तहा का मंत्र  : गायत्री मंत्र 
जपने की माला : रुद्राक्ष माला 
जप की संख्या : तीन  मालायें , 324 बार 

सात सप्तहा के बाद, सभी यंत्रों को अपने मंदिर में ही रहने दें व , जितने भी वज्रम्  हैं उन्हें बहते हुए पानी में प्रवाहित करें /  
विधि सम्पूर्णं 

इस उपाय में उपयोग होने वाली सामग्री |

1. यन्त्र - 7  - (1 प्रत्येक सप्ताह)

2. वज्रम - 14  - (2 प्रत्येक सप्ताह)

3. मिठाई  

4. फल 

5. फूल

6. कच्चे चावल 

7. धुप-अगरबत्ती