Connect
To Top

निरोगी काया कैसे होगी

बार बार बीमार पड़ना, लगातार अस्वस्थ रहना, इसका राज़ छुपा है आपकी कुंडली में, जाने और तुरन्त निवारण करवायें |

4 Comments

  1. badal gope

    April 24, 2017 at 10:28 am

    2007 se sharirik kamjori se pareshan hun.2012 se lakh koshish karne par bhi sharirik aur mansik kamjoriyo se bahar nahi nikal pa raha hun.ek bimari ka upaay karte hain.dusri bimari shuru ho jati hain.lakh puja-pat karne,sadna,mantra jap karne,kawach,ratan pahanne se bhi koi labh nahi mil raha hain.bahut sare diksha lekar mantra jap karne par bhi labh nahi mil raha hain.buri shaktiya hi pareshan kar raha hain.

    • Profile photo of Pt. Vinay Bajrangi

      Pt. Vinay Bajrangi

      April 25, 2017 at 8:12 am

      बिना कुंडली दिखाए कोई भी रतन / कवच पहनना सही नहीं होता कम से कम बजरंगी धाम में ऐसा नहीं होता कुंडली प्रधान सवालों के जवाब गुरूजी से सीधे बात होने के बाद ही दिए जाते हैं इस बात चीत के दौरान वो आपके भूत काल के बारे में पहले जानकार उसका आपके वर्तमान और भविष्य से आंकलन करते हैं इसके लिए आप साधना टीवी पर सुबह 8.30 am में लाइव शो में फ्री बात कर सकते हैं या अपना Personal टाइम लेकर बात कर सकते हैं अधिक जानकारी के लिए आप ऑफिस में रजत जी से 9278555588 / 9278665588 पर बात कर सकते हैं

      • Profile photo of Pt. Vinay Bajrangi

        Pt. Vinay Bajrangi

        April 25, 2017 at 8:13 am

        बिना कुंडली दिखाए कोई भी रतन / कवच पहनना सही नहीं होता कम से कम बजरंगी धाम में ऐसा नहीं होता कुंडली प्रधान सवालों के जवाब गुरूजी से सीधे बात होने के बाद ही दिए जाते हैं इस बात चीत के दौरान वो आपके भूत काल के बारे में पहले जानकार उसका आपके वर्तमान और भविष्य से आंकलन करते हैं इसके लिए आप साधना टीवी पर सुबह 8.30 am में लाइव शो में फ्री बात कर सकते हैं या अपना Personal टाइम लेकर बात कर सकते हैं अधिक जानकारी के लिए आप ऑफिस में रजत जी से 9278555588 / 9278665588 पर बात कर सकते हैं

      • Profile photo of Pt. Vinay Bajrangi

        Pt. Vinay Bajrangi

        April 25, 2017 at 1:14 pm

        Mr Govin Aaj hamaari baat ho gayi hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *