सूर्य सवारे सभी काम…

suryaa

हिन्दु धर्म में कई मान्यताएं हैं जो प्राचीन काल से चली आ रहीं हैं और उन्हें आज भी बड़ी शिद्दत के साथ निभाया जा रहा है। सूर्य को देवता माना जाता है। सूर्य की पूजा करने से आपको क्या लाभ हासिल होगा। आईए इसके बारे में मैं विनय बजरंगी आपको बताता हूं। सूर्य को अर्घ्य देने से पापों का नाश तो होता ही है। इसलिए हमेशा सूर्य को नमस्कार करके और अर्घ्य देकर ही भोजन करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि संध्या के समय जो जल का इस्तेमाल किया जाता है उससे असुरी शक्तियों का नाश होता है। इस तरह हैजा नीमोनियां जिनको ठीक करने में सूर्य की किरणों का अहम महत्व होता है।ये ऐसी बीमारियां हैं जो बेहद गर्म जल से भी जल्दी से ठीक नहीं हो पाती लेकिन प्रात: कालीन सूर्य की जल में प्रफलित हुई अल्ट्रावायलेट किरणें शीघ्र ही समाप्त हो जाती हैं। सूर्य को अर्घ्य देने वाला व्यक्ति अगर सूर्य के सामने खड़ा होकर धरती पर पानी गिराता है तो उगे हुए सुर्य की किरणें सीधी पड़ती हुई किरणों से अनिबद्ध वह जलराशि मस्तक से लेकर पांव तक साधक के शरीर के समान सूत्र में गिरती हुई सूर्य से निकलने वाली रंगबिरंगी किरणें जब शरीर पर पड़ती है तो सभी दुखों और तकलीफों को हर लेती है।

सूर्य को जल देने के फायदे ही फायदे हैं। इससे आंखों की रोशनी तेज होती है। सूर्य को लोटे में जल देना उचित माना जाता है। अगर लोटा पीतल या तांबे का होगा तो वो बेहद लाभकारी माना जाता है। ऋषियों-मुनियों ने इसे बहुत ही सरल और सटीक उपाय बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *