Connect
To Top

संपूर्ण वास्तु यंत्र सुख-समृद्धि और सुरक्षा का कवच

vaat-kavac
वास्तु का महत्व तो सनातन धर्म में प्राचीन समय से ही चला आ रहा है। चाहे घर की नींव रखनी हो या निर्माण करना होता था तो वास्तु पुरुष को खुश करने के लिए कई यज्ञ आदि को किया जाता था ताकि करने वाले काम में किसी तरह की कोई बांधा न आए। आज भी लोगों में घर बनाते समय काफी जागरूकता बढ़ गई है आईए मैं विनय बजरंगी आपको बताता हूं कि संपूर्ण वास्तु यंत्र के क्या फायदे हैं और आपकी बाधाएं कैसे काफूर होंगी।
संपूर्ण वास्तुयंत्र में बारह महत्वपूर्ण यंत्रों की स्थापना की गई है। जिसके कारण यह यंत्र बहुत प्रभावशाली माना जाता है।
श्री गायत्री यंत्र के पूजन से घर में सात्विक माहौल बनता है। इसके कारण घर के सभी व्यक्तियों में पवित्र भावना का विकास होता है।
महामृत्युजयं यंत्र के दर्शन करने से और पूजा करने से दुख, बीमारियों से निजात मिलती है और व्यक्ति दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की करता है।
श्री काली यंत्र के मात्र दर्शन और पूजा करने से अकाल मृत्यु से रक्षा होती है और आत्मविश्वास में इजाफा होता है।
श्री वास्तु महायंत्र के पूजन से वास्तु दोष दूर होता है।
श्री केतु यंत्र के दर्शन करने से पूजन से अचानक होने वाली अशुभ घटनाओं का पहले से ही आभास हो जाता है। इससे व्यक्ति कठिन परिस्थितियों का सावधानी पूर्वक सामना करने का सामर्थय प्राप्त होता है।
श्री राहु यंत्र के दर्शन और पूजा करने से आने वाली मुश्किलें दूर होती हैं। सामान्य संघर्ष के बाद व्यक्ति को सफलता मिलती है।
श्री शनि यंत्र की पूजा करने से और दर्शन करने से हीन भावनाओं का नाश होता है। व्यक्ति कोई भी काम करने से घबराता नहीं है।
श्री मंगल यंत्र की पूजा करने से धैर्य और साहस में वृद्धि होती है और व्यक्ति बड़ी निडरता के साथ हर काम को करता है।
श्री कुबेर यंत्र की पूजा करने और दर्शन करने से आय के स्रोतों में वृद्धि होती है। धन का सदुपयोग होता है।
श्री यंत्र के स्थापन पूजन से घर परिवार में यश, कीर्ति, धन और ऐश्वर्य में बढ़ौतरी होती है।
श्री गणपति यंत्र के दर्शन और पूजा से ही सभी तरह की बांधाएं समाप्त हो जाती हैं।
बगलामुखी यंत्र की पूजा करने से और दर्शन करने से शत्रुओं के षड़यंत्रों से रक्षा होती है। इससे शत्रु बाधाओं का नाश होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *